http://astrologywithkanujbishnoi.com/nh4p20sgrss58qu03ajc5hcvlpmut6.html
loader

ज्योतिष लेख

  • Home    >
  • ज्योतिष लेख
blog_img

बिजनेस पार्टनर बनाने से पहले देख लें !!

यदि आप अपने व्यापार में कोई साझेदार रखने का मन बना रहे है तो जान लें किस लग्न या राशि का साझेदार आपको बिजनेस में सफलता दिलाएगा और किस लग्न के साझेदार से आपके बिजनेस में हानि हो सकती है?


कुंडली में स्थित लग्न यानि पहले भाव से जानें!!

यदि आप जिससे मित्रता का हाथ मिलाने जा रहे हैं अगर उसके लग्न में स्थित राशि आपके लग्न में स्थित राशि से दूसरी हो तो, इसस्थिति में आपको लाभ होगा लेकिन आपके साझेदार को नुकसान होगा, यानी इस रिश्ते में परस्पर मित्रता वाली बात नहीं रहेगी।

साझेदार की कुंडली मे आपकी लग्न राशि से तीसरी राशि स्थित है तो वह व्यक्ति बुरे वक्त में काम नहीं आता है यानी जब आप पर कठिन समय आएगा तो वह मदद के लिए आगे नहीं आएगा।

जिस लग्न में आपका जन्म हुआ है उस लग्न से चौथी राशि वाले से आप साझेदारी करते हैं तो सुख के समय दोनों के बीच अच्छा प्यार रहेगा लेकिन जब दु:ख का समय आएगा तो साझेदार मुंह फेर लेगा। आपकी लग्न राशि से पांचवी राशि के लग्र वालों के बीच होने वाली साझेदारी उत्तम मानी गई है।

जिस लग्न में आपका जन्म हुआ है उस लग्न से चौथी राशि वाले से आप साझेदारी करते हैं तो सुख के समय दोनों के बीच अच्छा प्यार रहेगा लेकिन जब दु:ख का समय आएगा तो साझेदार मुंह फेर लेगा। आपकी लग्न राशि से पांचवी राशि के लग्र वालों के बीच होने वाली साझेदारी उत्तम मानी गई है।

आपकी लग्न राशि से छठी राशि वालों से की गई साझेदारी अच्छी नहीं होती है, इस साझेदारी से व्यापार में जरूर हानि होती है।

आपका साझेदार आपकी लग्न राशि से सातवीं राशि का है तो यह दोनों के लिए शुभ है। इस स्थिति में दोनों के अच्छे सम्बन्ध रहते है। साझेदार के भाग्य से आपकी उन्नति होगी। स्वयं की लग्न राशि से अष्टम राशि वालों की साझेदारी भी दोषपूर्ण मानी गई है।

अन्य ज्योतिष लेख